BREAKING NEWS
झारखंड : बस में महिला से दुष्कर्म
असम में हाथियों का आतंक, 3 लोगों की मौत
गोवा : दुष्कर्म मामले की तीसरी आरोपी का समर्पण
दक्षिण अफ्रीका में तेंदुए के हमले में बच्चा गंभीर रूप से घायल
मुंबई में दीवार ढहने से 1 की मौत
रूस, जापान के बीच संबंध सुधारने पर सहमति
बिहार में नाबालिग के सााथ सामूहिक दुष्कर्म, 1 गिरफ्तार
ट्यूनीशिया के प्रधानमंत्री हबीब एसिद लीबिया दौरे पर
ट्रंप का समर्थन नहीं करेंगे जेब बुश
मणिपुर : मुख्यमंत्री ने बेसहारा महिला के लिए स्वास्थ्य सुविधा सुनिश्चित की

LIVE News

झारखंड : बस में महिला से दुष्कर्म

असम में हाथियों का आतंक, 3 लोगों की मौत

गोवा : दुष्कर्म मामले की तीसरी आरोपी का समर्पण

दक्षिण अफ्रीका में तेंदुए के हमले में बच्चा गंभीर रूप से घायल

मुंबई में दीवार ढहने से 1 की मौत

छग : 8,401 पंचायतों में 3 लाख लोगों की 'महापरीक्षा' रविवार को

रायपुर, 19 मार्च (आईएएनएस/वीएनएस)। साक्षर भारत कार्यक्रम के तहत राष्ट्रव्यापी महापरीक्षा अभियान 20 मार्च को छत्तीसगढ़ के 27 में से 23 जिलों की आठ हजार 401 ग्राम पंचायतों में आयोजित किया जाएगा। इन ग्राम पंचायतों के लोक शिक्षा केंद्रों में होने वाली इस महापरीक्षा में लगभग तीन लाख शिक्षार्थी शामिल होंगे।

महापरीक्षा अभियान की मॉनिटरिंग के लिए जिलेवार राज्य स्तरीय प्रेक्षक भी नियुक्त किए गए हैं। इसके अलावा राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण द्वारा अभियान के तहत उत्तर पुस्तिकाओं की जांच के लिए सात हजार 490 वीक्षक और सात हजार 482 पर्यवेक्षक बनाए गए हैं।

सभी जिलों में स्थानीय अधिकारियों और कर्मचारियों को यह दायित्व सौंपा गया है। महापरीक्षा अभियान के अवलोकन के लिए राष्ट्रीय साक्षरता मिशन के महानिदेशक तथा केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष वाई.एस.के. शेषुकुमार बीस मार्च तक राज्य के दो दिवसीय भ्रमण पर है।

महानिदेशक शेषुकुमार 20 मार्च को रायपुर जिले के सांसद आदर्श ग्राम गिरौद और जेल परिसर सेजबहार में भ्रमण कर महापरीक्षा अभियान के तहत शिक्षार्थी आकलन का जायजा लेंगे।

अभियान में राज्य के 13 सांसद आदर्श ग्रामों के लोक शिक्षा केंद्रों में लगभग ढाई हजार शिक्षार्थी परीक्षा में शामिल होंगे। इनमें सबसे अधिक 701 शिक्षार्थी कोरबा जिले के सांसद आदर्श ग्राम तिलकेजा में सम्मिलित होंगे। इसी तरह 406 शिक्षार्थी गरियाबंद जिले के कुल्हाड़ीघाट में, 398 शिक्षार्थी मुंगेली जिले के हाथानिकला में, 289 शिक्षार्थी सरगुजा जिल के करमाहा में सम्मिलित होंगे।

इसके अलावा 231 शिक्षार्थी रायपुर जिले के गिरौद में, 185 शिक्षार्थी जशपुर जिले के जोरंडाझरिया तथा 124 शिक्षार्थी बटईकेला में शामिल होंगे।

इसी तरह 55 शिक्षार्थी राजनांदगांव जिले के गोटाटोला में, 43 शिक्षार्थी जांजगीर-चाम्पा जिले के जावलपुर में, 37 शिक्षार्थी कांकेर जिले के छोटे कापसी में, 32 शिक्षार्थी बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के पुरगांव में और 20 शिक्षार्थी बस्तर (जगदलपुर) जिले के सांसद आदर्श ग्राम चपका में सम्मिलित होंगे।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

Related items

  • झारखंड : बस में महिला से दुष्कर्म
    रांची, 7 मई (आईएएनएस)। झारखंड के कोडरमा जिले में एक 32 वर्षीया महिला के साथ बस में कथित तौर पर दुष्कर्म किया गया।

    पुलिस ने शनिवार को बताया कि महिला शुक्रवार को श्री ट्रैवर्ल्स की बस में बिहार के नवादा जिले से झारखंड के कोडरमा जिला जा रही थी।

    पीड़िता ने पुलिस को बताया कि कोडरमा के तिलैया में सभी यात्रियों के बस से उतरने के बाद चालक बस को एक सुनसान जगह पर ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया।

    पुलिस का कहना है कि महिला की मेडिकल जांच की जाएगी। आरोपी को पकड़ने के लिए अभियान शुरू कर दिया गया है।

    गौरतलब है कि भाजपा शासित झारखंड में कानून-व्यवस्था का आलम यह है कि प्रत्येक आठ से नौ घंटे में औसतन एक महिला के साथ दुष्कर्म हो जाता है।

    --आईएएनएस
  • असम में हाथियों का आतंक, 3 लोगों की मौत
    गुवाहाटी, 7 मई (आईएएनएस)। असम के ग्वालपाड़ा जिले में हाथियों के हमलों पर नियंत्रण में नाकामी को लेकर शनिवार को स्थानीय लोगों ने वन विभाग के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग 37 पर यातायात अवरुद्ध कर दिया, जिसके कारण यहां तनाव व्याप्त है। हाथियों के हमलों में तीन लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है।

    जिले के गेंदरापाड़ा गांव में शुक्रवार रात हाथियों के हमले में एक परिवार के तीन सदस्यों-दो महिलाएं व एक शिशु की मौत हो गई।

    स्थानीय लोगों ने तीनों के शवों को राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 37 पर रखकर वन विभाग के खिलाफ कार्रवाई व पीड़ित के परिजनों को मुआवजे देने की मांग को लेकर यातायात अवरुद्ध कर दिया।

    सड़क पर यातायात बहाल करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा।

    स्थानीय लोगों ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से गेंदरापाड़ा जिले में एक जंगली हाथी तथा अन्य इलाकों में कुछ और हाथियों ने आतंक मचा रखा है।

    एक स्थानीय व्यक्ति ने कहा, "हमने इसकी सूचना वन अधिकारियों को दी। लेकिन हाथियों को गांवों से खदेड़ने के लिए वन विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं की।"

    --आईएएनएस
  • गोवा : दुष्कर्म मामले की तीसरी आरोपी का समर्पण
    पणजी, 7 मई (आईएएनएस)। गोवा में नाबालिग से दुष्कर्म और मानव तस्करी के जिस मामले में पूर्व मंत्री अतनेसियो मोंसेराते को गिरफ्तार किया गया है, उस मामले की तीसरी आरोपी रोजी फेरूर ने शनिवार को अपराध शाखा के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया।

    फेरूर पर पीड़िता को उसकी मां के साथ सांठगांठ कर निर्दलीय विधायक मोंसेराते को 50 लाख रुपये में बेचने का आरोप है।

    मोंसेराते और पीड़िता की मां को गुरुवार को गिरफ्तार किया गया था। दोनों को तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। गोवा पुलिस की अपराध शाखा ने बुधवार रात जब से प्राथमिकी दर्ज की थी, उसके बाद से ही फेरूर लापता थी। उसने शनिवार को समर्पण कर दिया।

    पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को अपना नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर बताया, "उसने शनिवार को दोपहर के आसपास अपराध शाखा के समक्ष समर्पण कर दिया।" सूत्रों का कहना है कि उसे गिरफ्तार कर चिकित्सा परीक्षण के लिए भेजे जाने की संभावना है।

    मोंसेराते के खिलाफ धारा 342 (गलत तरीके से बंधक बनाना), 328 (चोट पहुंचाना), 370 (जबरन रोकना), 376 (दुष्कर्म) और यौन बाल यौन अपराध रोकथाम अधिनियम और गोवा बाल अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। पीड़िता की मां के खिलाफ मानव तस्करी और आपराधिक साजिश रचने का आरोप है।

    --आईएएनएस
  • मुंबई में दीवार ढहने से 1 की मौत
    मुंबई, 7 मई (आईएएनएस)। पूवरेत्तर मुंबई में कंजुरमार्ग के कर्वेनगर में एक इमारत की दीवार ढहने से एक मजदूर की मौत हो गई, जबकि एक अन्य घायल हो गया।

    यह घटना एमएमआरडीए कॉम्प्लेक्स की इमारत संख्या तीन में सुबह लगभग 9.30 बजे हुई। जिस समय यह हादसा हुआ, दो मजदूर सीमेंट की दीवारों से लकड़ी के कवर हटा रहे थे।

    मलबे में दबे एक मजदूर इंद्रजीत वी.चव्हाण (20) को मलबे से बाहर निकालकर राजावाड़ी अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गाय।

    बीएमसी आपदा नियंत्रण के एक अधिकारी ने बताया कि अन्य मजदूर को निकालने के लिए बचाव कार्य जारी है। मलबे में दबे मजदूर की पहचान महेश के.दशरथ के रूप में हुई है।

    बचाव कार्यो में तीन अग्निशमनकर्मी और अन्य बचाव एजेंसियां लगी हैं।

    --आईएएनएस
  • बिहार में नाबालिग के सााथ सामूहिक दुष्कर्म, 1 गिरफ्तार
    समस्तीपुर, 7 मई (आईएएनएस)। बिहार में समस्तीपुर जिले के दलसिंहसराय थाना क्षेत्र में शुक्रवार देर रात एक नाबालिग के साथ कथित सामूहिक दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आया है। पुलिस ने त्वरित कारवाई करते हुए एक अरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

    पुलिस के अनुसार, पाड़ गांव की 10 साल की बच्ची गांव में ही एक शादी समारोह में गई थी, जहां देर रात चार लोगों ने उसका अपहरण कर लिया। बाद में अपराधियों ने एक मक्के के खेत में उसके साथ कथित रूप से सामूहिक दुष्कर्म किया। आरोपियों ने बेरहमी से नाबालिग पीड़िता के शरीर को कई जगहों पर जख्मी भी कर दिया।

    बच्ची के घर नहीं पहुंचने पर परिजनों ने उसकी खोजबीन शुरू की। इस दौरान वह खेत में अचेतावस्था में मिली। पीड़िता को चिंताजनक स्थिति में समस्तीपुर सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां चिकित्सकों ने उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल भेज दिया।

    दलसिंहसराय के थाना प्रभारी सुबोध चौधरी ने शनिवार को आईएएनएस को बताया कि इस मामले में पीड़िता के परिजनों के बयान के आधार पर एक दलसिंहसराय थाने में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है, जिसमें गांव के ही चार लोगों को आरोपी बनाया गया है। पुलिस ने आरोपी दीपक पासवान को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।

    --आईएएनएस
  • मणिपुर : मुख्यमंत्री ने बेसहारा महिला के लिए स्वास्थ्य सुविधा सुनिश्चित की
    इंफाल, 7 मई (आईएएनएस)। तलाकशुदा महिला आर. के. तंफासना 2011 से बिस्तर पर हैं। अपने इलाज के लिए पैसे न होने के कारण अकेली और बेसहारा तंफासना ऐसे ही बेबस और लाचार जिंदगी काटने पर मजबूर थीं। लेकिन सोमवार को स्थानीय चैनल 'आईएसटीवी' पर उनकी कहानी प्रसारित होने के बाद अचानक स्थिति बदल गई। राज्य सरकार ने उनकी मदद के लिए अब कदम बढ़ाया है।

    तंफासना कई सालों से अपने बेटे की शिक्षा के लिए उधार लेती रहीं और यह रकम 78,000 पहुंच चुकी है। उस पर उनका खराब स्वास्थ्य उनके लिए एक परेशानी बन चुका था। बीमारी के कारण उनके पैरों को काटने की नौबत आ गई है, लेकिन उसके लिए भी उनके पास पैसे नहीं हैं।

    हालांकि उनके इस दुखद हालत ने यहां कई लोगों का दिल पिघला दिया और उन्होंने उनकी जांच के लिए चिकित्सकों को बुलवाया।

    एक वरिष्ठ चिकित्सक ने आईएएनएस से कहा, "प्रारंभिक जांच के बाद हम उनका इलाज शुरू करेंगे। हम चाहते हैं कि उनके स्वास्थ्य में सुधार आए ताकि वह सामान्य जिंदगी बिता सकें।"

    तंफासना की कहानी टेलीविजन चैनल पर प्रसारित हुई थी। उसमें कहा गया था कि उन्हें मणिपुर के समाज कल्याण मंत्री ए. मीराबाई से कोई मदद नहीं मिली। इसके बाद सत्ता पक्ष हरकत में आया।

    तंफासना की कहानी का एक राजनीतिक पहलू भी है। इंफाल में दो जून को होने जा रहे स्थानीय चुनाव को देखते हुए मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी सिंह ने इस मामले की राजनीतिक अहमियत समझी और शुक्रवार को यहां जवाहरलाल नेहरू इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस(जेएनआईएमएस) के चिकित्सक तंफासना की जांच के लिए यहां से नजदीक टेरा में स्थित उनके घर पहुंचे।

    मुख्यमंत्री मेडिकल कॉलेज के अध्यक्ष हैं, इसलिए इस मामले में उनका हस्तक्षेप स्वाभाविक है।

    जेएनआईएमएस के निदेशक देवेन लैशराम ने कहा, "हम उनके ऑपरेशन, दवाइयों और पूरे इलाज का इंतजाम मुफ्त में करेंगे। अस्पताल केवल पैसे वालों के लिए ही नहीं होता।"

    स्थानीय व्यापारी गीतचंद्र शर्मा ने तंफासना के परिवार के एक काबिल सदस्य को नौकरी देने का भी वादा किया है।

    हालात बदलते देखकर तंफासना के परिवार को अब उम्मीद है कि वह अपने पैरों पर खड़ी हो पाएंगी।

    --आईएएनएस

खरी बात

तो ये है देश का इकनॉमिक मॉडल

पुण्य प्रसून बाजपेयी गुजरात में पाटीदारों ने आरक्षण के लिए जो हंगामा मचाया- जो तबाही मचायी । राज्य में सौ करोड़ से ज्यादा की संपत्ति स्वाहा कर दी उसका फल...

आधी दुनिया

पश्चिम बंगाल : यौन दासता में भारत के उछाल का केंद्र

हिमाद्री घोष साल 2005-06 से पिछले 9 सालों में भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 76 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। लेकिन इस आर्थिक बदलाव का श्याह पहलू यौन...

जीवनशैली

आसान उपायों से दूर करें त्वचा का कालापन

नई दिल्ली, 5 मई (आईएएनएस)। गर्मियों में त्वचा का कालापन बेहद आम समस्या है, लेकिन इससे छुटकारा पाना आसान नहीं है। त्वचा विशेषज्ञों का मानना है कि कुछ घरेलू उपाय...