BREAKING NEWS
लंबे समय तक जीना चाहते हैं तो छरहरा बनें
मां होना ही सबसे बड़ा तोहफा (मदर्स डे विशेष)
सिंहस्थ कुंभ : व्यवस्थाएं दुरुस्त करने का अभियान जारी (फोटो सहित)
केरल में राज्यपाल पहली बार करेंगे मतदान
नकारात्मक वैश्विक संकेतों के कारण गिर रहा है शेयर बाजार (साप्ताहिक समीक्षा)
मोरक्को में बाढ़ से 6 की मौत
भाजपा के झूठ और पाप से सूख गई गंगा मैया : लालू
सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के लिए कम खाएं
आईपीएल : बेंगलोर को मिला 192 रनों का लक्ष्य (लीड-1)
जब सिंहस्थ कुंभ पर बरसी आफत

LIVE News

लंबे समय तक जीना चाहते हैं तो छरहरा बनें

सिंहस्थ कुंभ : व्यवस्थाएं दुरुस्त करने का अभियान जारी (फोटो सहित)

केरल में राज्यपाल पहली बार करेंगे मतदान

नकारात्मक वैश्विक संकेतों के कारण गिर रहा है शेयर बाजार (साप्ताहिक समीक्षा)

मोरक्को में बाढ़ से 6 की मौत

कजाकिस्तान संसदीय चुनाव के लिए मतदान शुरू

अस्ताना, 20 मार्च (आईएएनएस)। कजाकिस्तान में नई संसद के चुनाव के लिए रविवार को मतदान शुरू हो गए।

समाचार एजेंसी 'एफे' के मुताबिक, मतदान केंद्र सुबह सात बजे खुल गए।

107 सदस्यीय संसद के निचले सदन यानी 'मजलिस' की 98 सीटों के लिए 234 प्रत्याशी मैदान में हैं। वहीं 'पीपुल्स ऑफ कजाकिस्तान' एसेंबली बाकी बची नौ सीटों पर सदस्यों को नामित करेगी।

'पीपुल्स ऑफ कजाकिस्तान' एक संवैधानिक संस्था है, जिसमें देश के जातीय समूहों के प्रतिनिधि हैं।

देश की सत्तारूढ़ 'नूर ओतन पार्टी' (83 सीट) के एक बार फिर चुनाव जीतने की संभावना है, जबकि दो मुख्य विपक्षी पार्टियां 'अक झोल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ कजाकिस्तान' और 'कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ कजाकिस्तान' सदन में अपने प्रतिनिधियों की संख्या बढ़ाने की कोशिश करेंगी।

तीन छोटी पार्टियां 'अयूल सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी', 'सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी' और 'बिरलिक (एकता) पार्टी' भी चुनावी मैदान में हैं।

मतदाता स्थानीय सरकारी इकाइयों, या 'मसलीखत्स' के लिए भी अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे।

यहां 9,840 मतदान केंद्रों पर लगभग एक करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे।

चुनाव के परिणाम सोमवार को आने की उम्मीद है।

इंडो-एसियन न्यूज सर्विस।

Related items

  • ब्राजील : रौसेफ के खिलाफ महाभियोग की सिफारिश (लीड-1)
    ब्रासीलिया, 7 मई (आईएएनएस)। ब्राजील की सीनेट की एक विशेष समिति ने राजकोषीय गड़बड़ी के आरोप का सामना कर रहीं राष्ट्रपति डिल्मा रौसेफ के खिलाफ महाभियोग चलाने की सिफारिश कर दी है।

    इसके साथ ही उनके निलंबन और लैटिन अमेरिका की इस सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में नए नेतृत्व के आने की संभावना प्रबल हो गई है।

    समिति ने शुक्रवार को एक रपट को पांच वोट के मुकाबले 15 वोटों से मंजूरी दे दी, जिसमें कहा गया है कि कथित राजकोषीय गड़बड़ी को लेकर रौसेफ के खिलाफ सीनेट में महाभियोग चलाने के लिए पर्याप्त सबूत हैं।

    रौसेफ ने हालांकि इन आरोपों का खंडन किया है।

    वॉल स्ट्रीट जर्नल की रपट के मुताबिक, उन्होंने कहा, "मैं इस बात की एक जिंदा सबूत हूं कि पिछले 13 वर्षो के दौरान की गई सभी प्रगति के खिलाफ एक तख्तापलट की साजिश रची जा रही है।"

    रौसेफ ने चैंबर ऑफ डिपुटीज के अध्यक्ष एडुआडरे कुन्हा को बर्खास्त करने के निर्णय पर भी अपनी बात रखी, जिन्होंने दिसंबर में उनके खिलाफ महाभियोग प्रक्रिया शुरू की थी।

    रौसेफ ने कहा, "इस तख्तापलट की साजिश ऐसे व्यक्ति ने रची है, जिसके पास न कोई नैतिकता है और न कोई नैतिक सिद्धांत। वह मनी लॉन्ड्रिंग (काले धन को सफेद करने) और गुप्त खाते रखने का आरोपी भी है।"

    ब्राजील की तेल कंपनी पेट्रोब्रास में भ्रष्टाचार को लेकर चल रही जांच के मामले में कुन्हा पर भी भ्रष्टाचार का आरोप लगाया गया है।

    रौसेफ के सत्ता से बेदखल होने की स्थिति में उनकी वामपंथी वर्कर्स पार्टी का 13 साल पुराना शासन समाप्त हो जाएगा।

    अगर 81 सदस्यों वाले सीनेट में रौसेफ पर महाभियोग चलाने के पक्ष में बहुमत में मतदान हो जाता है तो उन पर मुकदमा चलाया जाएगा और इस स्थिति में उन्हें तत्काल पद छोड़ना होगा।

    रौसेफ पर मुकदमा चलाए जाने के दौरान उप राष्ट्रपति मिशेल टेमर कार्यवाहक राष्ट्रपति का पद संभालेंगे। मुकदमे की कार्यवाही ज्यादा से ज्यादा छह महीने में पूरी हो जाएगी।

    अगर रौसेफ को सजा होगी, तो टेमर उनका कार्यकाल पूरा करेंगे, जो एक जनवरी, 2019 तक चलेगा।

    सूत्रों के मुताबिक, सीनेट में रौसेफ की बर्खास्तगी के पक्ष में फैसला होने की प्रबल संभावना है।

    कई विश्लेषकों का कहना है कि उनके महाभियोग से बचने की संभावना काफी कम है।

    हालांकि अगर रौसेफ पर महाभियोग चलाया जाता है तो काफी कुछ उनके सहयोगी से दुश्मन बने टेमर पर निर्भर करेगा, जिन पर यह साबित करने का दबाव होगा कि वह ब्राजील को गहरे आर्थिक संकट से बाहर निकालने में सक्षम हैं।

    --आईएएनएस
  • चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा भारत के लिए चिंता का सबब : वी.के. सिंह
    कोलकाता, 7 मई (आईएएनएस)। विदेश राज्य मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वी.के.सिंह ने शनिवार को कहा कि भारत ने चीन के समक्ष चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) का मुद्दा उठाया है और उसकी प्रतिक्रिया का इंतजार है।

    मंत्री ने कहा, "इस परियोजना (सीपीईसी) के साथ एक बड़ी समस्या है। यह भारत की धरती से होकर गुजरता है।"

    उन्होंने यह बात रिसर्च सेंटर फॉर ईस्ट एंड नॉर्थ ईस्ट रिजनल स्टडीज, कोलकाता द्वारा आयोजित सम्मेलन 'इंडिया-चाइना रिलेशंस-द फ्यूचर' से इतर कही।

    सिंह ने कहा, "हमने मुद्दे को उठाया है, जिस पर चीन को विचार करने की जरूरत है। हम इस बात का इंतजार कर रहे हैं कि चीन इसके बारे में क्या कहता है।"

    उन्होंने हालांकि कहा कि इस बात की कोई समय-सीमा नहीं है कि चीन कब जवाब देगा।

    राज्यसभा में एक लिखित जवाब में मंत्री ने हाल में कहा था कि चीन सीपीईसी के विकास में पाकिस्तान की मदद कर रहा है। उन्होंने कहा, "सीपीईसी के तहत कुछ प्रस्तावित परियोजनाएं पाकिस्तान के कब्जे वाली कश्मीर में पड़ती हैं।"

    पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एम.के.नारायणन ने भी सीपीईसी को भारत के लिए एक बड़ा खतरा करार दिया।

    उन्होंने कहा, "सीपीईसी को बड़े खतरे के तौर पर देखा जाना चाहिए। दोनों देशों (चीन व पाकिस्तान) का साझा उद्देश्य क्षेत्र में भारत को नुकसान पहुंचाना है।"

    उन्होंने आगे कहा कि चीन के 'वन बेल्ट, वन रोड' (ओबीओआर) योजना से भारत व चीन के संबंधों पर प्रतिकूल असर पड़ेगा।

    नारायणन ने कहा, "चीन की ओबीओआर योजना से भारत व चीन के संबंधों पर सबसे प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।"

    --आईएएनएस
  • लंबे समय तक जीना चाहते हैं तो छरहरा बनें
    न्यूयार्क, 7 मई (आईएएनएस)। अगर आप अपने शरीर को हमेशा छरहरा बनाए रखते हैं तो इस बात की काफी अधिक संभावना है कि उन लोगों की तुलना में आप ज्यादा समय तक जिंदा रहेंगे, जो बचपन से ही भारी शरीर वाले होते हैं और मध्य आयु में और ज्यादा भारी हो जाते हैं।

    एक नए शोध में इसका खुलासा हुआ है। इसमें बताया गया है कि जिनका शरीर बचपन से ही भारी होता है वे मध्य आयु में और ज्यादा वजनी हो जाते हैं। उनके 15 साल कम जीने का खतरा होता है और ऐसा पुरुषों में 24.1 फीसदी और महिलाओं में 19.7 फीसदी होता है।

    वहीं, जो लोग हमेशा छरहरे बने रहते हैं उनकी 15 साल पहले मरने की संभावना कम होती है। यह पुरुषों में 20.3 फीसदी और महिलाओं में 11.8 फीसदी देखी गई।

    अमेरिका की हार्वर्ड विश्वविद्यालय की डॉक्टोरल छात्र मिंगयांग सोंग बताते हैं, "हमारे निष्कर्षो से वजन को काबू में रखने की सलाह को वैज्ञानिक औचित्य मिलता है। खासकर मध्य आयु में वजन को काबू में रखना चाहिए ताकि आप लंबे समय तक स्वस्थ रह सकें।"

    इसके अलावा ज्यादा बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) भी मरने की संभावना को बढ़ा देता है।

    शोधकर्ताओं का कहना है कि मोटापा दुनियाभर में एक बड़ी स्वास्थ्य समस्या बनी हुई है। इन निष्कर्षो से पता चलता है कि जीवन भर अपने वजन को काबू में रखने का महत्व पता चलता है।

    यह शोध बीएमजे में प्रकाशित किया गया है। इस शोध में शामिल कोई भी प्रतिभागी धूम्रपान नहीं करता था।

    --आईएएनएस
  • केरल में राज्यपाल पहली बार करेंगे मतदान
    तिरुवनंतपुरम, 7 मई (आईएएनएस)। केरल विधानसभा चुनाव के लिए 16 मई को होने जा रहे मतदान में राज्य के राज्यपाल पी. सतशिवम और उनकी पत्नी मतदान करने के लिए तैयार हैं। यह पहली बार है, जब केरल का कोई राज्यपाल यहां चुनाव में मतदान करेगा।

    तिरुवनंतपुरम के जिला कलेक्टर बीजू प्रभाकर ने आईएएनएस को बताया कि राज भवन के दस्तावेजों से उन्हें पता चला है कि यह पहली बार है जब केरल का कोई राज्यपाल और उनकी पत्नी यहां चुनाव में मतदान करेंगे।

    सतशिवम सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व प्रधान न्यायाधीश हैं।

    प्रभाकर ने कहा, "आज सुबह मैंने पी. सतशिवम और उनकी पत्नी को मतदाता पहचान पर्ची सौंपी। मैंने उन्हें पर्ची सौंपते हुए कहा कि वह पूरी तरह केरलवासी बन गए हैं।"

    प्रभाकर ने कहा, "मतदाता सूची में नामांकन कराने के लिए आवेदक को ऑनलाइन पंजीकरण कराना होता है और राज्यपाल ने भी ऐसा किया। उसके बाद बूथ स्तर के अधिकारी और तहसीलदार ने सत्यापन किया और आज मैंने उन्हें पर्ची सौंप दी।"

    सतशिवम और उनकी पत्नी पास के एक स्कूल में जाकर अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

    वे वत्तियार्कावू निर्वाचन क्षेत्र के तीन प्रमुख उम्मीदवारों -कांग्रेस विधायक के. मुरलीधरन, मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के टी. एन. सीमा और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की राज्य इकाई के अध्यक्ष कुम्मनम राजशेखरन- में से किसी एक के नाम पर मुहर लगाएंगे।

    --आईएएनएस
  • मोरक्को में बाढ़ से 6 की मौत
    रबात, 7 मई (आईएएनएस/सिन्हुआ)। मोरक्को में भारी बारिश की वजह से आई बाढ़ से छह लोगों की मौत हो गई और दो लापता हैं।

    देश के आंतरिक मामलों के मंत्रालय द्वारा शनिवार को जारी बयान के मुताबिक, टारोडांट प्रांत में बाढ़ की वजह से एक घर के बहने से परिवार के चार लोगों की मौत हो गई, जबकि एक अन्य महिला लापता बताई जा रही है।

    औरजाजेट प्रांत में बाढ़ में एक महिला के घर के बहने से उसकी मौत हो गई जबकि उडडेड्स नदी को पार करने की कोशिश के दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि उसके साथ का एक शख्स लापता है।

    भारी बारिश की वजह से मंगलवार से मोरक्को में बाढ़ की स्थिति है।

    --आईएएनएस
  • भाजपा के झूठ और पाप से सूख गई गंगा मैया : लालू
    पटना, 7 मई (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने शनिवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को छल और प्रपंच की पार्टी बताया और गंगा नदी के सूखने के लिए उसी को जिम्मेदार ठहराया।

    पूर्व मुख्यमंत्री व केंद्रीय मंत्री लालू ने भाजपा पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, "भाजपाइयों के झूठ और पाप से रुष्ट होकर गंगा मैया भी सूख गई है। ये लोग छल, प्रपंच एवं झूठ की सारी हदें पार कर चुके हैं।"

    अपने बयानों से सुर्खियों में रहने वाले लालू प्रसाद बिहार विधानसभा चुनाव में मिली कामयाबी के बाद से ट्विटर और फेसबुक पर लगातार सक्रिय रहते हैं। इसी माध्यम से वह विपक्षी दलों पर निशाना भी साधते हैं।

    --आईएएनएस

खरी बात

तो ये है देश का इकनॉमिक मॉडल

पुण्य प्रसून बाजपेयी गुजरात में पाटीदारों ने आरक्षण के लिए जो हंगामा मचाया- जो तबाही मचायी । राज्य में सौ करोड़ से ज्यादा की संपत्ति स्वाहा कर दी उसका फल...

आधी दुनिया

पश्चिम बंगाल : यौन दासता में भारत के उछाल का केंद्र

हिमाद्री घोष साल 2005-06 से पिछले 9 सालों में भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 76 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। लेकिन इस आर्थिक बदलाव का श्याह पहलू यौन...

जीवनशैली

आसान उपायों से दूर करें त्वचा का कालापन

नई दिल्ली, 5 मई (आईएएनएस)। गर्मियों में त्वचा का कालापन बेहद आम समस्या है, लेकिन इससे छुटकारा पाना आसान नहीं है। त्वचा विशेषज्ञों का मानना है कि कुछ घरेलू उपाय...