अमजद अली ने वाशिंगटन में शांति के लिए गाया गीत

मनोरंजन, कला
मुंबई, 10 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारत के सरोदवादक अमजद अली खान और उनके दोनों बेटों अमान और अयान ने शनिवार रात वाशिंगटन के लिंकन मेमोरियल में दुनियाभर के संगीतकारों के साथ मिलकर 'चैंट4चेंजपीस कॉन्सर्ट' में लाइव प्रस्तुति दी। आयोजन का मकसद आतंक का शिकार विश्व को संगीत के जरिए शांति का संदेश देना था।

खान ने कॉन्सर्ट के बाद कहा, "हम तीनों, मेरे दोनों बेटे और मैने बारिश में प्रस्तुति दी। हमने अपना कॉन्सर्ट वैश्विक शांति और सद्भावना को समर्पित किया है।"

उन्होंने कहा, "हमने मार्टिन लूथर किंग, महात्मा गांधी, रबींद्रनाथ टैगोर और हजरत अमीर खुसरो को श्रद्धांजलि दी है।"

खान ने कहा, "पहला गीत 'हम होंगे कामयाब' था। उसके बाद हमने 'वैष्णव जन तो', 'रामधुन', 'रघुपति राघव राजाराम' और 'एकला चोलो रे' गाया, जिसके बाद हमने एक तराना गाया। हमने एक बांग्ला लोक गीत के साथ अपनी प्रस्तुति समाप्त की। हम उम्मीद करते हैं कि दुनिया जल्द ही शांति और सद्भावना की कीमत समझेगी।"

खान ने कहा, "हमें अपनी युवा पीढ़ी को एक शांतिपूर्ण समाज देना चाहिए। हमारे परिवार को बेहद दुख होता है, जब हम युद्ध में जवानों के शहीद होने की खबर सुनते हैं, चाहे वे किसी भी देश के हों। हम हर धर्म, हर इंसान और दुनिया के हर गीत से जुड़ाव महसूस करते हैं।"

खान ने कलाकारों को राजनीतिक एजेंडे से अलग रखने की गुजारिश भी की।

उन्होंने कहा, "कला, संगीत और संगीतकार किसी धर्म या संप्रदाय से ताल्लुक नहीं रखते। फूल, हवा, पानी, रंग, अग्नि और खूशबू की तरह हम कलाकार किसी धर्म में नहीं बंधे होते।"

« Older Article तेलंगाना में संयंत्र स्थापित करेगी अशोक लेलैंड

Next Article » शी ने इंटरनेट नवाचार व सुरक्षा की वृद्धि पर जोर दिया

Back to Top