Kharinews

खरीफ फसलों से बाजार में आएगा 6 लाख करोड़ का धन : अमित शाह

Oct
16 2019

नई दिल्ली, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को उम्मीद है कि देश को आर्थिक सुस्ती से उबारने में कृषि क्षेत्र का अहम योगदान होगा। उन्होंने कहा कि मानसून के दौरान अच्छी बारिश होने से खरीफ फसलों की पैदावार बढ़ेगी जिससे अर्थव्यवस्था की सेहत सुधरेगी।

मानसून इस साल मेहरबान रहा है, जिससे खरीफ ही नहीं रबी फसलों की बुवाई का क्षेत्र बढ़ने की उम्मीद की जा रही है। इसका संकेत देश के कृषि वैज्ञानिकों ने भी दी है। लिहाजा, राजनेता आने वाले दिनों में अर्थव्यवस्था की सेहत सुधरने की उम्मीद कर रहे हैं।

शाह ने एक निजी चैनल को दिए साक्षात्कार में कहा, ईश्वर की कृपा से इस साल देश में मानसून के दौरान अच्छी बारिश हुई जिससे खरीफ सीजन के फसलों की पैदावार बढ़ेगी और कुछ ही दिनों खरीफ की नई फसल बाजार में आने वाली है। मेरा अंदाजा है कि खरीफ की अच्छी फसल के कारण लगभग छह लाख करोड़ का नया ब्लड (इनफ्लो) बाजार में आएगा।

शाह ने यह बात आर्थिक सुस्ती से उबरने को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में कही।

उन्होंने कहा, देश की आर्थिक सुस्ती को सिर्फ भारत के तुलनात्मक आंकड़ों से नहीं आंकना चाहिए, बल्कि इसे वैश्विक परिदृश्य में देखा जाना चाहिए क्योंकि पूरी दुनिया मंदी के दौर से गुजर रही है जिससे भारत अछूता नहीं रह सकता है।

उन्होंने कहा कि मंदी आने के बाद वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने तीन महीने के भीतर देश के विभिन्न हिस्सों का दौरा कर इस संबंध में अनेक लोगों से सुझाव लिए है और उन्होंने अधिकारियों के साथ श्रेणीबद्ध बैठकें की हैं।

शाह ने कहा, इसके बाद वह मंदी का सामना करने के लिए पांच अलग-अलग पैकेज लेकर देश के सामने आई हैं।

उन्होंने कहा, वित्तमंत्री द्वारा उठाए गए एक के बाद एक कदम और खरीफ फसलों की अच्छी पैदावार से मैं देख रहा हूं कि मंदी से निकलने का रास्ता मिलेगा।

हरियाणा के करनाल स्थित भारतीय गेहूं एवं जौ अनुसंधान संस्थान के निदेशक ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह ने आईएएनएस से बातचीत में कहा कि मानसून के दौरान अच्छी बारिश आने वाले दिनों में रबी सीजन के फसलों की भी अच्छी पैदावार रह सकती है।

--आईएएनएस

Related Articles

Comments

 

खाद्य पदार्थो के दाम बढ़ने से अक्टूबर में खुदरा महंगाई दर 4.62 फीसदी हुई (लीड-1)

Read Full Article
0

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive